क्रिप्टो करंसी

निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न

निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न

यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, FD पर मिलेगा 9% तक ब्याज

नई दिल्ली. निवेश के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) को काफी भरोसेमंद माना जाता है. ज्यादातर लोग अपनी सेविंग्स का पैसा इसी में निवेश करना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें गारंटीड रिटर्न मिलता है और पैसे डूबने का खतरा भी नहीं रहता है. अगर आप भी फिक्स्ड डिपाजिट यानी (FD) में निवेश कर सुरक्षित तरीके से तगड़ा रिटर्न पाना चाहते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है. यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड (Unity Bank) ने एफडी पर अपनी ब्याज दरों में और बढ़ोतरी की है.

बैंक द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को 181 और 501 दिनों की अवधि के लिए निवेश किए गए एफडी पर 9 फीसदी का सालाना ब्याज दिया जाएगा जबकि रिटेल निवेशक निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न समान अवधि के लिए किए गए निवेश पर 8.50 फीसदी का ब्याज कमा सकते हैं. नवंबर महीने में यह दूसरी बार है जब बैंक ने अपनी ब्याज दरों में संशोधन किया है.

यूनिटी बैंक ने कॉलेबल और नॉन-कॉलेबल बल्क डिपॉजिट्स (2 करोड़ रुपये से अधिक के जमा) पर भी अपनी ब्याटज दरें बढ़ाई हैं. कॉलेबल बल्क डिपॉजिट्स सालाना 8 फीसदी तक की ब्याज दर पेश करते हैं जब कि नॉन-कॉलेबल बल्क डिपॉजिट्स पर 8.10 फीसदी तक का वार्षिक ब्याज मिलता है.

सेविंग्स अकाउंट की ब्याज दरें भी बढ़ी

सेविंग्स अकाउंट के लिए, यूनिटी बैंक 1 लाख रुपये से ज्यादा के डिपॉजिट पर सालाना 7 फीसदी की और 1 लाख रुपये तक के जमा पर 6 फीसदी की ब्याज दर की पेशकश करता है.

RBI ने लगातार चौथी बार बढ़ाई निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न है रेपो रेट

गौरतलब है कि देश में बढ़ती महंगाई रोकने के लिए आरबीआई ने लगातार चौथी बार रेपो रेट बढ़ाई है. अब रेपो रेट 5.90 फीसदी तक पहुंच गई है. बीते 30 सितंबर को आरबीआई की एमपीसी की बैठक में यह फैसला लिया गया है कि रेपो रेट में 0.50 फीसदी का इजाफा किया जाएगा. अब रेपो रेट 5.40 फीसदी से बढ़कर 5.90 फीसदी कर दिया गया है. इससे पहले, मई में 0.40 फीसदी वृद्धि के बाद जून और अगस्त में 0.50-0.50 फीसदी की वृद्धि की गई थी.

नितिन गडकरी छोटे निवेशकों को देंगे बेहतर विकल्प, बैंकों से ज्यादा मिलेगा रिटर्न

nitin gadkari

अब छोटे निवेशकों को अच्छा विकल्प मिल सकता है. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ऐसे निवेशकों के लिए खास मौका लेकर आ रहे हैं. गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि उनका मंत्रालय एक इनविट मॉडल (InvIT Model) लाने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए वह मार्केट रेंगुलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया यानी सेबी (SEBI)के साथ बातचीत भी कर रहा है. उन्होंने बताया कि इसके जरिए छोटे निवेशक जैसे सीनियर सीटिजन, रिटायर्ड सरकारी अधिकारी आदि अपनी बचत को केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स में निवेश कर सकेंगे.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गडकरी का कहना है कि निवेशकों को इनविट में निवेश करने से बैंक की तुलना में दो-तीन फीसदी अधिक रिटर्न मिल सकेगा. उन्होंने आगे कहा कि वे अपने अधिकारियों से इस बात पर जोर देने को कह रहे हैं. वे कोशिश कर रहे हैं और सेबी की मंजूरी मिल जाए.

इनविट में बैंक एफडी से ज्यादा रिटर्न

केंद्रीय मंत्री का कहना है कि वह बैंकों का नुकसान नहीं करना चाहते हैं मगर छोटे निवेशकों को बैंक एफडी में जितना रिटर्न मिलता है, इनविट में उससे दो-तीन फीसदी ज्यादा रिटर्न मिल सकेगा. हर माह इस निवेश पर लोगों को ब्याज का लाभ मिलेगा.

बैंक में घटती जा रही हैं ब्याज दरें

गडकरी ने कहा कि “रिटायर्ड सरकारी अधिकारी अपनी सेविंग्स को बैंक में रखते हैं, जिस पर ब्याज दर में लगातार गिरावट हो रही है. यह देश के वरिष्ठ नागरिकों के लिए बड़ी दिक्कत की तरह है. इसलिए वे चाहते हैं कि अगर छोटे डिपॉजिटर्स इनविट मॉडल में निवेश करें तो उनके पैसे से इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण होगा और उन्हें अच्छा रिटर्न भी प्राप्त हो सकेगा. उन्होंने कहा कि वे घरेलू निवेशकों की संख्या को और बढ़ाना चाहते हैं.

बढ़ती महंगाई को मात देने में कारगर हो सकता है ये तरीका, मिलेगा शानदार रिटर्न!

महंगाई ने भारत समेत पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. इसने आम आदमी की खरीदने की शक्ति को कम कर दिया है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - July 30, 2022 / 04:56 PM IST

बढ़ती महंगाई को मात देने में कारगर हो सकता है ये तरीका, मिलेगा शानदार रिटर्न!

महंगाई ने भारत समेत पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. इसने आम आदमी की खरीदने की शक्ति को कम कर दिया है. निवेश पर मिलने वाला रिटर्न महंगाई की दर के साथ तालमेल नहीं बिठा पा रहा है. देश में खुदरा मुद्रास्फीति अप्रैल 2022 में 7.79 प्रतिशत थी जो पिछले आठ साल का उच्चतम स्तर है. मई में यह थोड़ा गिरकर 7.04 फीसदी पर आ गई. हालांकि महंगाई की दर अभी भी लगातार पांचवें महीने रिजर्व बैंक के 4 प्रतिशत (+2/-2) के आदर्श स्तर से ऊपर बनी हुई है.

महंगाई को मात देने का क्या मतलब है?

मुद्रास्फीति को मात देने का सीधा सा मतलब है जब निवेश पर मिलने वाला रिटर्न महंगाई की दर से ज्यादा हो. यदि वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में वृद्धि निवेश से मिलने वाले रिटर्न से ज्यादा है तो ऐसे रिटर्न के कोई मायने नहीं मतलब रिटर्न जीरो (शून्य) है.

भारत में महंगाई को कैसे हराया जाए?

महंगाई दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है. ऐसे में जाहिर है कि अगले 10 या 20 सालों में महंगाई की दर आज की तुलना में काफी ज्यादा होगी. महंगाई को मात देने का सबसे अच्छा तरीका है कि ऐसी जगह निवेश किया जाए जिसमें महंगाई दर के बराबर या उससे ज्यादा रिटर्न मिलने की संभावना हो. विशेषज्ञ मानते हैं कि छोटी बचत योजनाओं में इतना रिटर्न देने की क्षमता नहीं है. पिछले कुछ सालों में छोटी बचत योजना की ब्याज दरों में भी कमी आई है. ऐसे में शेयर मार्केट लंबी अवधि में आकर्षक रिटर्न देने की क्षमता रखता है जो महंगाई को मात दे सकता है.

शेयर मार्केट में निवेश के दो तरीके हैं. आप सीधे मार्केट में निवेश कर सकते हैं. हालांकि इसके लिए आपको मार्केट की जानकारी होनी चाहिए. ऐसी कई साइटें हैं जो शेयर मार्केट में ट्रेडिंग की सुविधा देती हैं. 5पैसा.कॉम एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आप आसानी से, सुरक्षित रूप से और अपनी भाषा में ट्रेड कर सकते हैं. ज्यादा जानने के लिए आप https://bit.ly/3RreGqO इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं. शेयर मार्केट ने लंबी अवधि में महंगाई से बेहतर रिटर्न दिया है. हालांकि शॉर्ट टर्म में कुछ उतार-चढ़ाव हो सकता है.

अच्छी रिसर्च और लंबी अवधि के लक्ष्य को ध्यान में रखकर निवेश करने से शेयर मार्केट से मिलने वाला रिटर्न महंगाई को मात देने में मदद कर सकता है. अगर शेयर मार्केट के रिस्क (जोखिम) आपको डराते हैं तो इक्विटी म्यूचुअल फंड का रास्ता चुना जा सकता है. म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए नियमित रूप से निवेश करके बड़ा फंड बनाया जा सकता है. म्यूचुअल फंड लंबे समय में उम्मीद से बेहतर रिटर्न दे सकते हैं. म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए सही फंड चुनना जरूरी है. इसके लिए आप किसी वित्तीय सलाहकार (फाइनेंशियल एडवाइजर) की मदद भी ले सकते हैं. ज्यादा महंगाई से निपटने के लिए लंबी अवधि (सात साल या अधिक) का पोर्टफोलियो बनाएं और पोर्टफोलियो में इक्विटी का हिस्सा ज्यादा रखें.

शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बने?

करोड़पति बनना एक सपना है जिसे बहुत से लोग देखते हैं लेकिन कुछ ही इस सपने को हासिल कर पाते हैं। अच्छी खबर यह है कि एक औसत निवेशक भी करोड़पति बन सकता है, लेकिन कैसे, वो समझेगे हम शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बने लेख की मदद से।

शेयर बाजार में अमीर बनना कुछ ऐसा लग सकता है जो की वॉल स्ट्रीट के विशेषज्ञों या ज्यादा पैसे वाले निवेशकों के लिए संभव है। लेकिन महत्वपूर्ण रकम कमाने के लिए आपको धनवान होने या निवेश के बारे में बहुत कुछ जानने की जरूरत नहीं है।

हालाँकि, आपको जो चाहिए वह एक रणनीति है। स्टॉक मार्केट में आप करोड़पति तीन तरीके से बन सकते है जिनके बारे में हम अभी बात करेंगे।

शेयर मार्केट से पैसा कैसे कमाए?

शेयर मार्केट ने बहुत से करोड़पति बनाए हैं और शेयर बाजार एक करोड़पति बनने के लिए आकर्षक विकल्प है क्योंकि इसमें अचल संपत्ति के रूप में ज्यादा काम की आवश्यकता नहीं होती है। शेयर मार्केट के लिए, आप बस बहुत सारे लेख पढ़ते हैं, अपना शोध करते हैं, शेयरों में निवेश करते हैं, और अपनी अल्पकालिक भावनाओं को दीर्घकालिक योजना के रास्ते में नहीं आने देते। तभी वह सही मायने में निवेश कहलाता है।

प्रत्येक करोड़पति निवेशक ने करोड़ो रुपये तक पहुंचने के लिए इन तीन में से कम से कम दो रास्तों का पालन किया है। अपनी निवेश रणनीति में कई रास्तों को शामिल करने से आपको बड़े लक्ष्य तक जल्दी पहुंचने में मदद मिलेगी।

स्टॉक मार्केट प्रेडिक्शन हो सकती है?

काफी लोग तो ये भी सोचते होंगे के क्या शेयर मार्केट की प्रेडिक्शन मतलब भविष्यवाणी हो सकती है । आपको जान के हैरानी होगी के हाँ ये सचमुच में हो सकता है लेकिन इसमें आपको कुछ बातों का ख्याल रखना पड़ेगा, जैसे के:

1. FPI, FII और DII के आधार पर
2. कंपनी फंडामेंटल के आधार पर
3. स्टॉक ट्रेडिंग वॉल्यूम में डिलीवरी प्रतिशत के आधार
4. शेयरहोल्डिंग पैटर्न के आधार पर

इसके अलावा भी बातें हैं लेकिन वो किसी और दिन । आज बात करेंगे के शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बनें

1. जितनी जल्दी हो सके निवेश करना शुरू करें

जब शेयर मार्केट में पैसा बनाने की बात आती है तो समय आपका मित्र होता है। निवेश जब भी करो लम्बी अवधि के लिए करो, क्योंकि रातोंरात अमीर बनने का कोई सुरक्षित तरीका नहीं है। जितना अधिक समय आपको निवेश करना होगा, उतना अधिक आप संभावित रूप से कमा सकते हैं।

आपकी उम्र के आधार पर, आपको अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए हर महीने एक महत्वपूर्ण राशि का निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन निवेश करने के लिए जितनी देर करेंगे, करोड़पति बनना उतना ही कठिन होगा।

मान लीजिए, उदाहरण के लिए, आप 25 वर्ष के हैं और अभी निवेश करना शुरू कर रहे हैं। यदि आपने 15% वार्षिक रिटर्न दर अर्जित करते हुए लगभग 15000 प्रति माह का निवेश किया है, तो आप जब 40 बर्ष के होंगे तक आप एक करोडपति बन गए होंगे। दूसरी तरफ, यदि आप 30 वर्ष के हैं और अभी निवेश करना शुरू कर रहे हैं। तो आप 40 बर्ष की उर्म तक सिर्फ 40 लाख ही रिटर्न के साथ जमा कर पायेंगे।

अभी आप देख पा रहे है कि यदि आप देर से शुरू कर रहे हैं, तो करोड़पति बनना अधिक चुनौतीपूर्ण हो सकता है। हालांकि, देरी करने के बजाय अभी निवेश शुरू करना बेहतर है।

यही कारण है कि जल्दी और अक्सर निवेश करना इतना महत्वपूर्ण है। बाजार में वह समय है जहां अविश्वसनीय वृद्धि हो सकती है।

2. ज़्यादा पैसो के साथ निवेश करें

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना कमाते है फर्क इससे पडता है आप उसमें से कितना निवेश करते है। अगर आप जल्दी करोडपति बनना चाहते हो तो आपको करोड़पति बनने के लिए शेयर बाजार में काफी पैसा लगाना होगा। आपको कम से निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न कम 6 अंकों का निवेश करना होगा, इसलिए यदि आपने पहले से नहीं किया है तो अभी से निवेश शुरू करें।

सही कंपनीओं की रिसर्च कर, अलग – अलग कंपनियों में लम्बी अवधि के लिए निवेश करे। आप बहुत ज्यादा पैसे के साथ निवेश की शुरुआत कर रहे है और 10% सलाना भी रिटर्न मिलता है तब भी आपको करोड़पति बनने में ज्यादा समय नही लगेगा।

अधिकांश निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न लोगों की सफलता की राह बहुत सारा पैसा निवेश करने से शुरू होती है। उच्च रिटर्न अर्जित करने और बाजार में अधिक समय पाने के लिए आपको पैसे का निवेश करने की आवश्यकता है।

अधिक पैसा निवेश करने से आप अधिक निवेश कर सकते हैं और समय के साथ अपनी गलतियों से सीख सकते हैं। फिर आप सीख सकते हैं कि कैसे उच्च रिटर्न अर्जित करें जो बाजार को मात दे ताकि आप मिलियन-डॉलर पोर्टफोलियो की ओर अपनी यात्रा के साथ आगे बढ़ सकें।

3. लम्बे समय के लिए निवेश करे

अब स्टॉक मार्केट में आपको निवेश और ट्रेड दोनों के लिए विकल्प प्रदान किया जाता है, लेकिन अगर आप एक शुरुआती निवेशक और ज़्यादा पैसे कमाने की मानसिकता के साथ आप स्टॉक मार्केट में निवेश करते है तो उसके लिए लॉन्ग टर्म निवेश करना एक बेहतरीन ऑप्शन होता है।

लॉन्ग टर्म निवेश करने के लिए आप एक कंपनी का मौलिक विश्लेषण (fundamental analysis in hindi) करे और अलग-अलग पैरामीटर जैसे की सेक्टर ग्रोथ, मार्केट न्यूज़ और आने वाले ग्रोथ की जानकारी प्राप्त कर निवेश करने का निर्णय ले सकते है।

अब जब विश्लेषण करने की बात आती है तो यहाँ पर आप अलग-अलग पैरामीटर और रेश्यो को पढ़ सकते है जैसे की ROE, PE, EBITDA (EBITDA meaning in hindi) आदि।

अगर आप मार्केट में नए है तो यहाँ पर ज़रूरी है की आप इनकी पूरी जानकारी लेकर ही निवेश करे जिसके लिए आप स्टॉक मार्केट कोर्स भी ले सकते है।

अपने निवेश पर उच्च रिटर्न प्राप्त करने की योजना बनाये

औसत मार्केट रिटर्न 10% प्रति वर्ष है। यदि आप इस रिटर्न को हरा सकते हैं, तो आप जल्द ही करोड़पति बन जाएंगे। अगर आप सालाना 20% रिटर्न, 30% रिटर्न, या इससे भी अधिक प्राप्त कर सकते हैं, तो आपका पैसा बहुत तेजी से बढ़ेगा।

कोविड के समय जब मार्केट क्रैश हुआ था, उस समय अगर आप बजाज फाईनेंस में 1 लाख रुपये निवेश कर देते है तो वह अभी लगभग 4 लाख 15 हजार रुपये हो गए होते। यह उस दौरान शेयर बाजार के प्रदर्शन से कहीं बेहतर है।

आपको अपने निवेश पर अविश्वसनीय रिटर्न प्राप्त करने के लिए, आपको कंपनी का शोध करना होगा। प्रभावी स्टॉक मार्केट रिसर्च में 3 चरण शामिल हैं: उन शेयरों की खोज करें जिनके बारे में आप पहले नहीं जानते थे, उन्हें देखें और फिर निर्णय लें।

हर निवेशक का शोध करने का तरीका अलग होता है। कंपनी के फण्डामेंटल की अच्छे से रिसर्च करे।

चरण # 1: ऐसी कंपनीओं को शॉर्ट लिस्ट करे जिनकी ग्रोथ बहुत अच्छी है। फिर उन कंपनियों की पूरी रिसर्च करे जैसे कंपनी क्या करती है, कैसे पैसे कमाती है, कंपनी पर कितना कर्ज है, कंपनी के मैंनेजमेंट के वारे में आदि।

चरण # 2: अब शॉर्ट लिस्ट कंपनियों की रिसर्च करने के बाद उन कंपनियों को छांटे जो सही प्राइस वैल्यु पर मिल रही हो। क्योंकि अगर आप किसी स्टॉक को हायर प्राइस पर खरीदते है तो आपके रिटर्न कम हो जाए। इसलिए अगर ज्यादा रिटर्न चाहते हो तो सही समय पर फेयर वैल्यु पर निवेश करे। इसके लिए आप कंपनी की इन्ट्रिंसिक वैल्यू (intrinsic value of share meaning in hindi) की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

चरण #3: अभी तक आप रिसर्च कर चुके हो कि आपको कौन सी कंपनी में निवेश करना है और किस प्राइस पर करना है। अव आपको अपना सारा पैसा उन रिसर्च की गई कंपनी में लम्बी अवधि के लिए लगा दे। कुछ सालो के बाद आप देखेंगे कि अच्छे रिटर्न के साथ आप करोड़पति बन चुके है।

पोर्टफोलियो में विवधिता लाए

जब भी बात शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बने की आती है तो यहाँ पर ज़रूरी हो जाता है की आप बहुत सोच समझ कर निवेश करें और साथ हे स्टॉक में विविधिता लाये जिससे आप अपने औसत मुनाफे और नुकसान को नियंत्रित कर सकते है।

स्टॉक मार्केट में विविधिता लाने के लिए आप स्टॉक्स, म्यूच्यूअल फण्ड और बांड में निवेश कर सकते है। इसके अतिरिक्त आप स्टॉक्स में निवेश करने के लिए अलग-अलग सेक्टर की कंपनी का चयन कर सकते है।

इस तरह की विविधिता लाने पर आप कोरोना जैसे पान्डेमिक समय में भी अपने नुकसान को काफी हद तक कम कर सकते है।

निष्कर्ष

निवेश चाहे जिस भी तरह का हो हर कोई उसमे ज़्यादा रिटर्न की अपेक्षा करता है। शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बने उसके लिए ज़रूरी है कि आप अच्छा मुनाफा और रिटर्न प्राप्त कर करने की ओर ध्यान दे और निवेश के बाद धैर्य रखे।

साथ ही ये सुझाव दिया जाता है की एक निवेशक अपने अनुसार निवेश करे और मार्केट की बारीकियो और स्टॉक मार्केट के बेसिक (basics of share market in hindi) को समझने के बाद ही किसी भी तरह का निर्णय ले।

Start Learning through Free & Pro Stock Market Courses!

Install Stock Pathsahla and Get Exclusive 20% off on all subscriptions.Use Coupon Code SPWEB20

बचत खाते में पैसा रखने के बजाय इनमें करें निवेश और पाएँ अधिक रिटर्न

बचत खाते में पैसा रखने के बजाय इनमें करें निवेश और पाएँ अधिक रिटर्न

बचत हम सभी के लिए बेहद जरूरी है, लेकिन इसी के साथ ये भी जानना उतना ही जरूरी है कि इसके लिए सबसे उचित साधन कौन सा है? आमतौर पर हम अपनी बचत की राशि को सीधे बचत खाते में डाल देते हैं। बचत खाते में भले ही जोखिम ना हो लेकिन उसमें मिलने वाला ब्याज़ बेहद कम होता है, जिससे आपकी बचत राशि में कोई खास बढ़ोत्तरी देखने को नहीं मिलती है।

इसके उलट अगर आप निवेश को ध्यान में रखते हुए अपनी बचत राशि के जरिये अच्छा रिटर्न पाना चाहते हैं तो आपके पास कई विकल्प मौजूद हैं, जो आपको कम जोखिम के साथ आधिक रिटर्न में आपकी मदद करेंगे। नीचे हम ऐसे ही कुछ विकल्पों की चर्चा कर रहे हैं, जिनके साथ आगे बढ़ते हुए आप अपनी बचत राशि को निवेश के लिए इस्तेमाल कर अधिक लाभ उठा सकते हैं।

म्यूचुअल फंड

आजकल म्यूचुअल फंड अधिक चर्चा में है। इक्विटी म्यूचुअल फंड के जरिये आप इक्विटी स्टॉक में निवेश का कर सकते हैं। सेबी के अनुसार जो स्कीम अपने फंड का 65 प्रतिशत हिस्सा शेयरों में निवेश करती है वो इक्विटी म्यूचुअल फंड कहलाती है। इस स्कीम के तहट एक फंड मैनेजर पर्याप्त रिसर्च के बाद निवेश के लिए बेहतर शेयर का चुनाव कर उसमें निवेश करता है।

आप डेट म्यूचुअल फंड के जरिये गारंटीड रिटर्न कमा सकते हैं। इन म्यूचुअल फंड के जरिये आप कॉर्पोरेट बांड्स, सरकारी सिक्योरिटीज और कमर्शियल पेपर आदि में निवेश करते हैं, जिसमें आपको पाँच साल की अवधि के लिए 7.5 फीसदी सालाना रिटर्न तक मिल सकता है।

NPF (नेशनल पेंशन स्कीम)

नेशनल पेंशन स्कीम बीते कुछ समय से लोगों की पसंद का हिस्सा रहा है। इसमें निवेश के साथ निकासी संबंधी नियमों में बदलाव और अतिरिक्त टैक्स छूट ने इसे निवेशकों के लिए अधिक आकर्षक बना दिया है। NPS में निवेश के साथ ही आप शिक्षा, शादी और मेडिकल इमरजेंसी के समय में आंशिक निकासी भी कर सकते हैं।

ALSO READ

दो बहनों द्वारा लॉन्च किया गया यह साड़ी स्टार्टअप भारत के विभिन्न कोनों से लोगों तक पहुंचा रहा है हैंडक्राफ्टेड साड़ियाँ

बैंक एफडी

बैंक में पैसा डालने के बाद अगर आप निश्चिंत हो जाना चाहते हैं तो एफडी का विकल्प आप के लिए ही है। यह निवेश का सबसे सुरक्षित और गारंटीड रिटर्न वाला विकल्प है। एफडी में निवेश करते हुए आप 80C के तहत टैक्स में छूट भी पा सकते हैं।

रियल एस्टेट

निवेश के लिए यदि आपके पास बड़ी राशि है तो रियल एस्टेट आपके लिए सर्वोत्तम विकल्पों में से एक हो सकता है। इस निवेशकों को मिलेगा ज्यादा रिटर्न सेक्टर में निवेश करने के बाद आपकी संपत्ति के दाम को लगातार बढ़ते ही हैं, साथ में आप किराए के जरिये भी आमदनी का एक पक्का साधन तैयार कर सकते हैं।

रियल एस्टेट में निवेश करते समय आपको लोकेशन और मौजूद सुविधाओं के बारे में अधिक सजग रहना होता है, ताकि आपको क्षेत्र के विकास के साथ अधिक से अधिक रिटर्न हासिल हो सके। रियल इस्टेट महज कुछ सालों के भीतर ही 100 प्रतिशत से अधिक रिटर्न दे सकता है।

सैकड़ों सालों से सोना निवेश का सबसे लोकप्रिय और सुरक्षित साधन बना हुआ है। लोग सोने के सिक्के, आभूषण आदि में निवेश करते हैं, लेकिन अगर आप सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले गोल्ड बॉन्ड के जरिये सोने में निवेश करते हैं तो आप अधिक लाभ उठा सकते हैं।

सोना आमतौर पर एक निश्चित रिटर्न तो आपको उपलब्ध कराता ही है, वहीं इसके साथ आपको जल्दबाज़ी करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। रिटर्न के मामले में यह भी रियल एस्टेट की तरह की काम करता है।

रेटिंग: 4.55
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 82
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *