क्रिप्टो करंसी

के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी

के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी
ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Cryptocurrency Prices Today May 19: 30,000 डॉलर के नीचे आया बिटकॉइन, ये रहा क्रिप्टोकरेंसी बाजार के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी का हाल

Cryptocurrency Prices Today May 19: आज क्रिप्टोकरेंसी बाजार में बिटकॉइन 30,000 के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी डॉलर के नीचे कारोबार करता नजर आया। दुनिया की सबसे बड़ी और मशहूर क्रिप्टोकरेंसी के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन 2 प्रतिशत से अधिक गिरकर 29,163 डॉलर पर कारोबार करती नजर आई। ये इस साल 36 फीसदी से अधिक गिर चुकी है। अपने अब तक के नवंबर 2021 के पीक 69,000 डॉलर से काफी पीछे है।

Ether में आई गिरावट

दूसरी ओर ईथर एथेरियम ब्लॉकचेन से जुड़ी क्रिप्टोकरेंसी ईथर 4% से अधिक गिरकर 1,951 डॉलर पर कारोबार करता नजर आया। ईथर, दूसरी बड़ी क्रिप्टोकरेंसी है। Dogecoin की कीमत आज 0.08 डॉलर पर कारोबार कर रही थी। जबकि, शीबा इनु भी 5% से अधिक गिरकर 0.000012 डॉलर पर दिखाई दिया।

संबंधित खबरें

Shriram ग्रुप की कंपनियों का मर्जर जल्द, श्रीराम फाइनेंशियल वेंचर्स होगी ग्रुप की नई होल्डिंग कंपनी, जानें डिटेल

Meta-Twitter Layoffs: सिर्फ लोअर लेवल के लोग क्यों निशाने पर?

G20 Summit| विकासशील देशों की आवाज बनेगा इंडिया, अपनी उपलब्धियां दुनिया को दिखाएगा : अमिताभ कांत

ये रहा अन्य क्रिप्टो का हाल

Solana, Cardano, Avalanche, Polygon, Stellar, XRP, Polkadot, Tron, Litecoin, Uniswap में बीते 24 घंटों में गिरावट नजर आई। Terra (Luna) में भी गिरावट का दौर जारी है। ये 20 फीसदी से अधिक क्रैश कर गया और 0.00014 डॉलर पर कारोबार करता नजर आया।

बिटकॉइन में मई में रही इतनी गिरावट

बिटकॉइन मई में अब तक 21% तक गिर चुका है। दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन ने पिछले सप्ताह कुल 299 मिलियन डॉलर का इन्फ्लो देखा। इससे पता चलता है कि निवेशकों का भरोसा बिटकॉइन में बना हुआ है। क्रिप्टोकरेंसी बाजार में अमेरिकी मौद्रिक नीति में बदलाव होने और बढ़ती महंगाई का असर नजर आया। नवंबर के बाद से कीमतों में आधे से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है। बिटकॉइन का ऑल टाइम हाई 69,000 डॉलर से अधिक रहा है।

Cryptocurrency News: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने दी बड़ी जानकारी, जानें बिल को लेकर क्या है प्लान?

By: पीटीआई, एजेंसी | Updated at : के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी 05 Dec 2021 11:36 AM (IST)

Edited By: Shivani

निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

FM Nirmala Sitharaman: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी पर कई तरह की अटकलें चल रही हैं और ये अटकलें अच्छी बात नहीं हैं. सरकार द्वारा क्रिप्टोकरेंसी के विनिमयन की तैयारियों के बीच उनका यह बयान आया है. सीतारमण के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी ने ‘एचटी लीडरशिप समिट’ को संबोधित करते हुए कहा कि अच्छी तरह से विचार-विमर्श के बाद तैयार किया गया विधेयक मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद निश्चित रूप से के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी संसद में आने जा रहा है.

एक सवाल के जवाब में वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘बहुत सारी अटकलें चल रही हैं . ये बिल्कुल ठीक बात नहीं हैं.’’ क्रिप्टोकरेंसी एवं आधिकारिक डिजिटल मुद्रा का नियमन विधेयक, 2021 को लोकसभा के बुलेटिन-भाग दो में शामिल किया गया है. इसे शीतकालीन सत्र में ही पेश किया जाएगा.

किस के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी देश में हैं सबसे ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी के निवेशक, देखें टॉप-5 देशों की लिस्ट

क्रिप्टोकरेंसी होल्डर्स की संख्या बढ़ती जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated : April 23, 2022, 06:30 IST

नई दिल्ली. क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) जैसे-जैसे वैश्विक एसेट में शुमार होती जा रही है, वैसे-वैसे निवेशक अपनी वेल्थ बढ़ाने के लिए इस डिजिटल एसेट की ओर गंभीरता से देखने लगे हैं. कारण यह है कि इसमें निवेश करने वालों को काफी अच्छा रिटर्न मिला है. आइए, एक नजर उन देशों पर डालते हैं, जहां सबसे ज्यादा क्रिप्टो होल्डर्स हैं.

2021 कई मायनों में डिजिटल एसेट के लिए ब्रेकआउट वर्ष था क्योंकि बिटकॉइन का मार्केट कैप 65,000 डॉलर के लाइफटाइम हाई पर पहुंच गया था. क्या आपने कभी सोचा के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी है कि इस क्रिप्टोकरेंसी में उबाल के लिए सबसे अधिक योगदान कौन देता है? आइए, सिंगापुर की क्रिप्टो पेमेंट सर्विस ट्रिपल-ए के आंकड़ों के हिसाब से 2021 की तीसरी तिमाही में सबसे अधिक क्रिप्टो होल्डर्स वाले देशों पर एक नजर डालते हैं.

क्रिप्टोकरेंसी का बाजार क्रैश, बजट में सरकार कर सकती है बड़ा ऐलान

market crash of cryptocurrency

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर कई तरह की बातें मार्केट में है. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर साल 2022 कैसा रहेगा इसे लेकर भी कई तरह के कयास लगाये जा रहे हैं. संभव है कि केंद्र सरकार इस बजट में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कोई बड़ा फैसला ले सकती है.

निवेशक अब भी है आकर्षित

सरकार इस बढ़ते मार्केट पर लंबे समय से नजर रख रही है ऐसे में सभव है कि इस क्षेत्र में निवेशकों को आकर्षित करते हुए सरकार कोई अहम फैसला ले. साल 2022 की शुरुआत में क्रिप्टोकरेंसी का बाजार ढलान की तरफ है. कई बड़े क्रिप्टो की कीमत कम हो रही है. शुक्रवार को भी यह बाजार क्रेश हो गया. बिटक्वाइन की कीमत में भी छह फीसद तक की गिरावट दर्ज की गयी है.

क्रिप्टोकरेंसी में पिछले साल लोगों का रुझान देखने को मिला. तमाम जोखिम के बावजूद भी लोग इस मार्केट की तरफ आकर्षित नजर आये. क्रिप्टोकरेंसी को लेकर भारत सरकार भी बड़े फैसले की तरफ आगे बढ़ रही है. सरकार की तरफ से तमाम चेतावनी के बाद भी निवेशक इस तरफ ज्यादा कम नहीं हुए .

शुक्रवार को आयी किप्टो के बाजार में भारी गिरावट

दुनिया की सबसे ज्यादा प्रचलित क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन की गिरावट इस बाजार को लेकर अच्छे संकेत नहीं दे रही है. शुक्रवार को आयी गिरावट के बाद इस डिजटल करेंसी की कीमत 1,98,773 रुपये तक घटकर 31,75,096 के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी रुपये पर आ गयी है. सिर्फ बिटक्वाइन ही नहीं इथेरियम में भी गिरावट दर्ज की गयी है. इसमें 6.88 फीसदी या 17,331 रुपये टूटकर 2,34,512 रुपये रह गयी है.

साल 2021 कें नवंबर माह में बिटक्वाइन, इथेरियम और अन्य क्रिप्टो करेंसियों में जोरदार बढ़त दर्ज की गयी थी. बिटक्वाइन और इथेरियम ने के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी इसी महीने अपने ऑल टाइम हाई स्तर को छुआ था. फरवरी को पेश होने वाले बजट 2022 में सरकार की ओर से क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बड़ा एलान कर सकती है.

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Crypto को लेकर अमेरिका की टेंशन का रूस-यूक्रेन युद्ध कनेक्शन

Crypto को लेकर अमेरिका की टेंशन का रूस-यूक्रेन युद्ध कनेक्शन

क्या क्रिप्टो पर अमेरिकी की टेढ़ी नजर के पीछे रूस-यूक्रेन युद्ध है? अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) ने अमेरिकी ट्रेजरी विभाग और अन्य संघीय एजेंसियों को वित्तीय स्थिरता और राष्ट्रीय सुरक्षा पर क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के प्रभाव का अध्ययन करने का निर्देश दिया है.

राष्ट्रपति जो बिडेन ने क्रिप्टोक्यूरेंसी की सरकारी निगरानी पर एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं जो फेडरल रिजर्व से यह पता लगाने का आग्रह करता है कि क्या केंद्रीय बैंक को अपनी डिजिटल मुद्रा (CBDC) बनानी चाहिए.

100 से ज्यादा देश अपने CBDC लाने पर कर रहे काम

क्रिप्टोकरेंसी की बढ़ती लोकप्रियता के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी के कारण कई देश खुद की सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी लाने पर काम कर रहे हैं. भारत भी वित्तवर्ष 23 में ही अपनी सीबीडीसी का पायलट ट्रायल करेगा. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया खुद की डिजिटल करेंसी लाने के लिए अब कई दिनों से काम कर रहा है. इसका जिक्र वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में भी किया था.

RBI ला रहा भारत की पहली डिजिटल करेंसी, बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो से ये कैसे अलग?

RBI ला रहा भारत की पहली डिजिटल करेंसी, बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो से ये कैसे अलग?

इस फैसले का रूस पर क्या पड़ेगा असर?

यह कार्रवाई तब हो रही है जब सांसदों और प्रशासन के अधिकारियों द्वारा चिंता व्यक्त के लिए 2023 बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी की जा रही थी कि रूस यूक्रेन के आक्रमण के कारण अपने बैंकों, कुलीन वर्गों और तेल उद्योग पर लगाए गए प्रतिबंधों के प्रभाव से बचने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कर सकता है.

हालांकि बिडेन प्रशासन ने इसपर तर्क दिया है कि रूस क्रिप्टोकरेंसी की ओर रुख करके US और यूरोपीय व्यापार के नुकसान की भरपाई नहीं कर पाएगा. अधिकारियों ने कहा कि रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने से पहले जो बिडेन की सरकार इस फैसले पर काम कर रही थी.

युवाओं में क्रिप्टो का क्रेज

जोखिमों के बावजूद, अमेरिकी सरकार ने कहा, सर्वेक्षणों से पता चलता है कि लगभग 16% व्यस्क अमेरिकियों – या 40 मिलियन लोगों ने – क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है. और 18-29 आयु वर्ग के 43% पुरुषों ने अपना पैसा क्रिप्टोकुरेंसी में डाल रखा है.

जो बिडेन द्वारा हस्ताक्षरित कार्यकारी आदेश मुख्य रूप से केंद्रीय बैंक की डिजिटल मुद्राओं से जुड़े जोखिमों और लाभों के आकलन पर आधारित है. कई सरकारों ने पहले ही सीबीडीसी को लागू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

क्रिप्टोकरेंसी पर बैन भारत के लिए सबसे बेहतर विकल्प- RBI के डीप्टी गवर्नर

क्रिप्टोकरेंसी पर बैन भारत के लिए सबसे बेहतर विकल्प- RBI के डीप्टी गवर्नर

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 189
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *