विदेशी मुद्रा विश्वकोश

पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है?

पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है?

Trading setup for Tomorrow – Monday: Things to know before Opening Bell

ट्रेडिंग सेटअप – सोमवार 13th Sept 2021 (Trading Setup for Tomorrow)

सोमवार के पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? लिए ट्रेड सेटअप ( Trading setup for tomorrow) : ओपनिंग बेल से पहले आपको ये चीजे पता होनी चाहिए

बाजार ने ९ सितंबर को मामूली बढ़त के साथ एक अन्यथा अस्थिर सत्र को बंद कर दिया, लेकिन व्यापक बाजार ने प्रमुख बेंचमार्क को मात देना जारी रखा। चुनिंदा सेक्टर्स जैसे की एफएमसीजी, आईटी और मेटल शेयरों ने बाजार को समर्थन दिया, जबकि चुनिंदा बैंकों और फार्मा शेयरों में बिकवाली का दबाव देखा गया।

बीएसई (BSE) सेंसेक्स ५४.८१ अंक चढ़कर ५८,३०५.०७ पर, जबकि निफ्टी ५० (NIfty 50) १५.८० अंक ऊपर १७,३६९.३० पर था और दैनिक चार्ट पर तेजी से कैंडल बनाई क्योंकि समापन शुरुआती स्तरों से अधिक था। सप्ताह के दौरान सूचकांक में एक प्रतिशत की तिहाई की वृद्धि हुई और साप्ताहिक पैमाने पर दोजी प्रकार की कैंडल बनाई है।

“खरीदारी की कमी के कारण, बेंचमार्क निफ्टी १७,२५० -१७,४५० के स्तर की सीमा में समेकित हुआ। हालांकि मध्यम अवधि की प्रवृत्ति अभी भी सकारात्मक है, व्यापारियों को एक अधिक रैली के कारण प्रतिरोध स्तर (Resistance) के पास मुनाफा बुक करना पसंद हो पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? सकता है।

“खरीदारों के लिए, १७,२५० और १७,२०० प्रमुख समर्थन स्तर होंगे। इसके ऊपर, अपट्रेंड गठन १७,४५०-१७,६५० के स्तर तक जारी रहने की संभावना है। दूसरी तरफ, १७,२०० की बर्खास्तगी १७,१००-१७,००० के स्तर तक और कमजोरी को बढ़ावा दे सकती है।

पोजिशनल ट्रेडर्स १७,००० सपोर्ट के करीब १६,९३० पर सख्त स्टॉप लॉस (Stop Loss) के साथ कॉन्ट्रा बेट ले सकते हैं।

निफ्टी बैंक (Nifty Bank) (Trading setup for tomorrow)

निफ्टी बैंक ८५ अंक गिरकर ९ सितंबर को ३६,६८३.२० पर बंद हुआ। महत्वपूर्ण धुरी स्तर, जो सूचकांक के लिए महत्वपूर्ण समर्थन (Support) के रूप में कार्य करेगा, ३६,५४७.५३ पर रखा गया है, इसके बाद ३६,४११.८६ पर है। ऊपर की ओर, प्रमुख प्रतिरोध स्तर ३६,८३८ .०३ और ३६ ,९९२.८६ स्तरों पर रखे गए हैं।

कॉल विकल्प डेटा (Call Option Data)

१७.९८ लाख अनुबंधों का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट १७५०० स्ट्राइक पर देखा गया, जो सितंबर श्रृंखला में एक महत्वपूर्ण प्रतिरोध स्तर के रूप में कार्य करेगा।

इसके बाद १७४०० स्ट्राइक है, जिसमें १५.१० लाख अनुबंध हैं, और १८००० स्ट्राइक है, जिसमें १४.६९ लाख अनुबंध जमा हुए हैं।

१८००० स्ट्राइक पर कॉल राइटिंग देखी गई, जिसमें १ लाख अनुबंध जोड़े गए, इसके बाद १८१०० स्ट्राइक हुई, जिसमें ४८,४५० अनुबंध और १७७०० स्ट्राइक शामिल हुए, जिसमें ४६,२५० अनुबंध शामिल थे।

१७८०० स्ट्राइक पर कॉल अन्वयनदींग देखी गई, जिसमें १.४९ लाख अनुबंध, उसके बाद १७१०० स्ट्राइक, जिसमे १३,७५० कॉन्ट्रैक्ट्स है , और १६,६०० स्ट्राइक जहा पे १०,७५० कॉन्ट्रैक्ट्स बने हुवे है।

पुट ऑप्शन डाटा (Put Option Data)

४२.४२ लाख अनुबंधों का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट १७००० स्ट्राइक पर देखा गया, जो सितंबर पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? श्रृंखला में एक महत्वपूर्ण समर्थन स्तर के रूप में कार्य करेगा।

इसके बाद १६५०० स्ट्राइक है, जिसमें २८.०५ लाख कॉन्ट्रैक्ट्स हैं, और १७२०० स्ट्राइक है, जिसमें १८.३६ लाख कॉन्ट्रैक्ट्स जमा हुए हैं।

१७३०० स्ट्राइक में पुट राइटिंग देखी गई, जिसमें १.४३ लाख कॉन्ट्रैक्ट जोड़े गए, इसके बाद १७२०० स्ट्राइक में १.३८ लाख कॉन्ट्रैक्ट जोड़े गए, और १६९०० स्ट्राइक में १.१३ लाख कॉन्ट्रैक्ट जोड़े गए।

पुट अनइंडिंग को १६७०० स्ट्राइक पर देखा गया, जिसमें ३२,७०० कॉन्ट्रैक्ट जोड़े गए, इसके बाद 17800 स्ट्राइक ने २,२०० कॉन्ट्रैक्ट को और १६५०० स्ट्राइक को ६७५ कॉन्ट्रैक्ट जोड़े गए।

जरुरी संपर्क (Links ) इन शेयर मार्किट – NSE & BSE INDIA: Important Links

शेयर बाजार के इन्वेस्टर्स की सितंबर में चांदी, ये 5 कंपनियां देने वाली हैं बोनस

Share Market Bonus Issue 2022: शेयर बाजार में कमाई करने के कई तरीके होते हैं. ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग के अलावा डिविडेंड और बोनस इश्यू मार्केट से मोटी कमाई कराने वाले विकल्प हैं. आइए जानते हैं कि इस महीने यानी सितंबर 2022 में कौन-कौन कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस इश्यू करने जा रही हैं.

बोनस से मालामाल होंगे इन्वेस्टर्स

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 02 सितंबर 2022,
  • (अपडेटेड 02 सितंबर 2022, 10:46 AM IST)

शेयर बाजार के इन्वेस्टर्स को कई तरह से कमाई होती है. शेयरों की कीमतें बढ़ने से इन्वेस्टर्स को कमाई तो होती ही है, इसके अलावा कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को समय-समय पर पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? डिविडेंड देती हैं. इससे भी इन्वेस्टर्स को मोटी कमाई होती है. शेयर बाजार से कमाई का तीसरा तरीका है बोनस. कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? भी देते रहती हैं. आइए हम आपको पांच ऐसे स्टॉक्स के बारे में बताते हैं, जो इस महीने अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस देने वाले हैं.

Gail (India) Limited: इस लिस्ट में सबसे पहला नाम है सरकारी कंपनी गेल का. गेल इंडिया अपने पोजिशनल इन्वेस्टर्स को इस महीने बोनस देने जा रही है. यह बोनस 1:2 के अनुपात में मिलेगा. कंपनी ने बोनस इश्यू करने के लिए 07 सितंबर की तारीख को रिकॉर्ड डेट बनाया है. इसका मतलब हुआ कि गेल इंडिया 06 सितंबर को एक्स-बोनस हो जाएगी. यानी 06 सितंबर तक जिनके पास गेल के शेयर होंगे, वे इस बोनस इश्यू के पात्र माने जाएंगे. गेल इंडिया इससे पहले अपने इन्वेस्टर्स को 04 बार बोनस दे चुकी है.

Jyoti Resins And Adhesives: बाजार पूंजीकरण के लिहाज से स्मॉल कैप कैटेगरी में आने वाली यह कंपनी भी अपने इन्वेस्टर्स को सितंबर 2022 में बोनस देने जा रही है. ज्योति रेजिन्स ने बोनस इश्यू के लिए 09 सितंबर को रिकॉर्ड डेट बनाया है. इसका मतलब हुआ कि जिन इन्वेस्टर्स के पास 08 सितंबर तक इस कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें इस बार बोनस मिलेगा. कंपनी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को हर एक शेयर पर बोनस के रूप में दो शेयर देगी.

सम्बंधित ख़बरें

दो लाख लगाने वाले बने करोड़पति, 54 गुना चढ़ चुका ये पेनी स्टॉक
सिंधु ट्रेड लिंक्स के शेयर का कमाल, एक साल में दिया 700% रिटर्न
ढाई साल में 600% उछला Tata का ये स्टॉक, 7 गुना हुआ निवेश
इस स्टॉक ने साल भर में डबल किया पैसा, Damani ने भी किया है निवेश
इस कंपनी को एक और झटका, CFO ने दिया इस्तीफा, बिखर गए शेयर

सम्बंधित ख़बरें

Ruby Mill: इस महीने बोनस देने वाली कंपनियों की लिस्ट में रूबी मिल्स का भी नाम शामिल है. यह कंपनी हर शेयर पर एक शेयर का बोनस देगी. इससे पहले रूबी मिल्स ने साल 2015 में भी अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस दिया था. कंपनी ने उस समय भी 1:1 के अनुपात में ही बोनस दिया था. इस बार बोनस इश्यू के लिए कंपनी ने 23 सितंबर को रिकॉर्ड डेट तय किया है. इसका मतलब हुआ कि जिन इन्वेस्टर्स के पास 22 सितंबर तक रूबी मिल्स के शेयर होंगे, उन्हें बोनस शेयर मिलेगा.

Ram Ratna Wires: यह कंपनी सितंबर 2022 के आखिरी हफ्ते में बोनस इश्यू देने वाली है. कंपनी ने बोनस देने के लिए 29 सितंबर का रिकॉर्ड डेट निर्धारित किया है. यानी जिन शेयरहोल्डर्स के पास 28 सितंबर तक कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें बोनस वाला शेयर मिलेगा. कंपनी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को हर एक शेयर के बदले बोनस में एक शेयर देगी. राम रत्न वायर्स अपने शेयरहोल्डर्स को पहली बार बोनस दे रही है.

Pondy Oxides And Chemicals: सितंबर 2022 में बोनस देने वाली कंपनियों की लिस्ट में यह आखिरी नाम है. पॉन्डी ऑक्साइड भी 29 सितबर को बोनस इश्यू करने वाली है. यानी जिन शेयरहोल्डर्स के पास 28 सितंबर तक कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें बोनस वाला शेयर मिलेगा. यह कंपनी भी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को 01 शेयर के बदले 01 शेयर का बोनस देगी. यह कंपनी इससे पहले साल 2017 में भी अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस दे चुकी है.

शिक्षा सेक्टर में कैसे ट्रेडिंग युक्तियां उद्योग के रूप में उभर रही हैं, जानें

Nibedita Mohanta

ट्रेडिंग एक बहुत ही महत्वपूर्ण जीवन कौशल है क्योंकि अन्य जीवन कौशलता के साथ इसे शिक्षा प्रतिष्ठानों द्वारा सिखाया जाता है। ट्रेड का निर्णय दोनों पार्ट टाइम या फुल टाइम द्वारा हो सकता है। पार्ट टाइम ट्रेडिंग अतिरिक्त आय का साधन है जबकि फुल टाइम ट्रेडिंग प्रोफेशनल बदलाव है।

ट्रेडिंग में अधिकतर रिटेल ट्रेडर पैसे गंवा देते हैं। इसका अंक 90 से 95 प्रतिशत तक होता है जो ट्रेडिंग स्टॉक, फिचर, ऑपरेशन्स और माल में पैसे गंवा देते हैं। वे पैसे बनाने में बहुत सी परेशानियों को झेलते हैं क्योंकि उनके ट्रेडिंग संबंधी निर्णय समाचार, कानों सुनी बातों, टिप्स, और अपनी भावना या सोच आदि पर आधारित होते हैं। ट्रेडिंग बिना किसी जोखिम के मैनेजमेंट या पैसों के मैनेजमेंट, खरीदने या बेचने में बिना किसी निर्णय लेने का पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? मूल्यांकन इसमें शामिल नहीं होता है।

व्यवसाय में दीर्घकालिक बचाव के लिए रिटेल ट्रेडर यह मानते हैं कि नियमित रूप से पैसे गंवाना ट्रेडिंग एक्टिविटी में एक अच्छा चिन्ह नहीं है।इसलिए एक व्यक्ति को ट्रेडिंग रणनीति में शिक्षित होने की आवश्यकता उभरी है जो एक सही रास्ता है। पहले सीखें और पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? फिर पैसे कमाएं। ट्रेडर को लगता है कि ट्रेडिंग किसी अन्य पेशे की ही तरह एक व्यवसाय है। पहले उन्हें ये समझने, सीखने, अभ्यास या मार्गदर्शन को सीखने की आवश्यकता है और फिर उन्हें ट्रेडिंग में खरीद या बिक्री या फिर छोटी बिक्री आदि संबंधी निर्णय लेने चाहिए।

क्यों आवश्यक है कि आप अपनी ट्रेडिंग समझ को मजबूत बनाएं:

• एक ट्रेडिंग सर्वे के विशिष्ट जनसमूह के मापदंड ने यह दिखाया है कि बहुत से लोग अपने ट्रेडिंग गतिविधियों को लाभकारी परिणाम के साथ ठीक करने में असफल हो जाते हैं।
• सामान्यतः एक रिटेल ट्रेडर अपना ट्रेडिंग खाते को 6 से 12 महीने में भी हवा में उड़ा देता है।
• बहुत से लोग भविष्य की तारीख में आर्थिक प्रतिबद्धता के लिए एक अतिरिक्त आर्थिक आराम चाहते हैं।
• हर दिन बहुत से ट्रेडिंग संबंधी निर्णय लिए जाते हैं। इन ट्रेडिंग निर्णयों की क्वालिटी में सुधार ही इस ट्रेडिंग व्यवसाय में दीर्घकाल तक जीवित रहने की कुंजी है।
• बहुत से अंतर्राष्ट्रीय सर्वे ने यह साबित किया है कि ट्रेडिंग की समझ में कम स्तर के साथ स्टॉक, भावी सौदे, माल और मुद्रा की कम स्तर की समझ शामिल है।

ऊपर दिए गए कारणों के आधार पर यह शिक्षा क्षेत्र में एक उद्योग के रूप में उभरा है।

लोग व्यापार सीख रहे हैं आगे वे एक दिन के व्यापारी, स्विंग व्यापारी या स्थिति व्यापारी के रूप में विशेषज्ञता की तलाश कर रहे हैं। कई लोग किसी विशिष्ट बाजार सेगमेंट में व्यापार करना चाहते हैं जैसे सिंगल स्टॉल भावी सौदा या विकल्प ट्रेडिंग या पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? कीमती धातुओं और कच्चे माल के सेगमेंट। कुछ भावी सौदों और विकल्पों की सूची जैसे निफ्टी और बैंक निफ्टी हैं। शिक्षा सेक्टर का ट्रेडिंग एक नया और उभरता सेक्टर है। ट्रेडिंग रणनीति प्रोग्राम दोनों ऑनलाइन जो लाइव सत्र हो सकते हैं जिसका निर्देश दोनों तरफ के ऑडियो विडियो सुविधा से हो या फिर रिकॉर्डिड विडियो पाठों के आधार पर या फिर वास्तविक क्लास रूम के आधार पर किया जा सकता है। दोनों ऑनलाइन और वास्तविक क्लास रूम ट्रेडर द्वारा स्वीकारें जाते हैं और बहुत से ट्रेडिंग शिक्षा अकादमिक प्रोग्राम का शिक्षा के दोनों ही आधारों पर आयोजन करते हैं।

ट्रेडिंग स्टाइल और अलग अलग तरह के गुणी क्लास में ट्रेडिंग रणनीति कार्यक्रम पेश किया जाता है।

ट्रेडिंग स्टाइल: डे ट्रेडिंग, स्विंग ट्रेडिंग, पोजिशनल ट्रेडिंग।

गुणी क्लास: स्टॉक ट्रेडिंग, भावी सौदा ट्रेडिंग, विकल्प ट्रेडिंग, मॉल ट्रेडिंग, मात्रात्मक ट्रेडिंग तकनीक, अस्थिरता-आधारित ट्रेडिंग इसके कुछ नाम हैं।

किसी भी ट्रेडिंग रणनीति प्रोग्राम से जुड़ने से पहले व्यक्ति को ट्रेडिंग अनुभव ऑफ फेकल्टी, पढ़ने के नोट्स और वर्कशॉप मटेरियल, क्लासरूम के बाद की मदद, ट्रेडिंग मंच पर तकनीकी मदद पर ध्यान देना चाहिए।

शेयर बाजार के इन्वेस्टर्स की सितंबर में चांदी, ये 5 कंपनियां देने वाली हैं बोनस

Share Market Bonus Issue 2022: शेयर बाजार में कमाई करने के कई तरीके पोजिशनल ट्रेडिंग क्या है? होते हैं. ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग के अलावा डिविडेंड और बोनस इश्यू मार्केट से मोटी कमाई कराने वाले विकल्प हैं. आइए जानते हैं कि इस महीने यानी सितंबर 2022 में कौन-कौन कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस इश्यू करने जा रही हैं.

बोनस से मालामाल होंगे इन्वेस्टर्स

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 02 सितंबर 2022,
  • (अपडेटेड 02 सितंबर 2022, 10:46 AM IST)

शेयर बाजार के इन्वेस्टर्स को कई तरह से कमाई होती है. शेयरों की कीमतें बढ़ने से इन्वेस्टर्स को कमाई तो होती ही है, इसके अलावा कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को समय-समय पर डिविडेंड देती हैं. इससे भी इन्वेस्टर्स को मोटी कमाई होती है. शेयर बाजार से कमाई का तीसरा तरीका है बोनस. कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस भी देते रहती हैं. आइए हम आपको पांच ऐसे स्टॉक्स के बारे में बताते हैं, जो इस महीने अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस देने वाले हैं.

Gail (India) Limited: इस लिस्ट में सबसे पहला नाम है सरकारी कंपनी गेल का. गेल इंडिया अपने पोजिशनल इन्वेस्टर्स को इस महीने बोनस देने जा रही है. यह बोनस 1:2 के अनुपात में मिलेगा. कंपनी ने बोनस इश्यू करने के लिए 07 सितंबर की तारीख को रिकॉर्ड डेट बनाया है. इसका मतलब हुआ कि गेल इंडिया 06 सितंबर को एक्स-बोनस हो जाएगी. यानी 06 सितंबर तक जिनके पास गेल के शेयर होंगे, वे इस बोनस इश्यू के पात्र माने जाएंगे. गेल इंडिया इससे पहले अपने इन्वेस्टर्स को 04 बार बोनस दे चुकी है.

Jyoti Resins And Adhesives: बाजार पूंजीकरण के लिहाज से स्मॉल कैप कैटेगरी में आने वाली यह कंपनी भी अपने इन्वेस्टर्स को सितंबर 2022 में बोनस देने जा रही है. ज्योति रेजिन्स ने बोनस इश्यू के लिए 09 सितंबर को रिकॉर्ड डेट बनाया है. इसका मतलब हुआ कि जिन इन्वेस्टर्स के पास 08 सितंबर तक इस कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें इस बार बोनस मिलेगा. कंपनी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को हर एक शेयर पर बोनस के रूप में दो शेयर देगी.

सम्बंधित ख़बरें

दो लाख लगाने वाले बने करोड़पति, 54 गुना चढ़ चुका ये पेनी स्टॉक
सिंधु ट्रेड लिंक्स के शेयर का कमाल, एक साल में दिया 700% रिटर्न
ढाई साल में 600% उछला Tata का ये स्टॉक, 7 गुना हुआ निवेश
इस स्टॉक ने साल भर में डबल किया पैसा, Damani ने भी किया है निवेश
इस कंपनी को एक और झटका, CFO ने दिया इस्तीफा, बिखर गए शेयर

सम्बंधित ख़बरें

Ruby Mill: इस महीने बोनस देने वाली कंपनियों की लिस्ट में रूबी मिल्स का भी नाम शामिल है. यह कंपनी हर शेयर पर एक शेयर का बोनस देगी. इससे पहले रूबी मिल्स ने साल 2015 में भी अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस दिया था. कंपनी ने उस समय भी 1:1 के अनुपात में ही बोनस दिया था. इस बार बोनस इश्यू के लिए कंपनी ने 23 सितंबर को रिकॉर्ड डेट तय किया है. इसका मतलब हुआ कि जिन इन्वेस्टर्स के पास 22 सितंबर तक रूबी मिल्स के शेयर होंगे, उन्हें बोनस शेयर मिलेगा.

Ram Ratna Wires: यह कंपनी सितंबर 2022 के आखिरी हफ्ते में बोनस इश्यू देने वाली है. कंपनी ने बोनस देने के लिए 29 सितंबर का रिकॉर्ड डेट निर्धारित किया है. यानी जिन शेयरहोल्डर्स के पास 28 सितंबर तक कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें बोनस वाला शेयर मिलेगा. कंपनी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को हर एक शेयर के बदले बोनस में एक शेयर देगी. राम रत्न वायर्स अपने शेयरहोल्डर्स को पहली बार बोनस दे रही है.

Pondy Oxides And Chemicals: सितंबर 2022 में बोनस देने वाली कंपनियों की लिस्ट में यह आखिरी नाम है. पॉन्डी ऑक्साइड भी 29 सितबर को बोनस इश्यू करने वाली है. यानी जिन शेयरहोल्डर्स के पास 28 सितंबर तक कंपनी के शेयर होंगे, उन्हें बोनस वाला शेयर मिलेगा. यह कंपनी भी अपने पात्र शेयरहोल्डर्स को 01 शेयर के बदले 01 शेयर का बोनस देगी. यह कंपनी इससे पहले साल 2017 में भी अपने शेयरहोल्डर्स को बोनस दे चुकी है.

रेटिंग: 4.12
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 750
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *