रणनीति व्यापार

विश्व वित्तीय बाजार

विश्व वित्तीय बाजार
ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

एंबुलेंस में होती थी शराब की तस्करी, पुलिस भी खा जाती थी चकमा, ऐसे हुआ खुलासा

वित्तीय बाजारों के जोश में कितना दम, ये एक खुला सवाल: बिड़ला

नई दिल्लीः आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि यह एक खुला सवाल है कि वित्तीय बाजारों के जोश में कितना दम है और ये तेजी कितनी टिकाऊ है, यह पता करने में अगली तिमाही या थोड़ा और वक्त लगेगा। उन्होंने बीते साल के बारे में टिप्पणी करते हुए कहा विश्व वित्तीय बाजार कि कोरोना वायरस महामारी ने तबाही ला दी है और ‘‘चाहें जीवन हो या व्यवसाय, लोगों तथा कंपनियों को बीमारियों की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए।'' उन्होंने लोगों से ज्ञान, विचारों का भंडार तैयार विश्व वित्तीय बाजार करने, सहयोग और सद्भावना बढ़ाने का आह्वान किया।

आने वाले दिनों में घर से काम करने की का चलन बढ़ने के बारे विश्व वित्तीय बाजार में उन्होंने कहा कि कार्यालय सिर्फ एक जगह नहीं है, जहां लोग काम करने आते हैं, बल्कि यहां लोगों, विचारों और बातचीत को ढाला जाता है। बाजार में उतार-चढ़ाव को बुलबुले की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि अनिश्चितता के साथ ही वित्तीय बाजार और अधिक अस्थिर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता मांग में कुछ बुनियादी बदलाव हुए हैं लेकिन लगभग सभी क्षेत्रों में सुधार देखने को मिल रहा है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

इस्लामिक स्टेट ने काबुल में पाकिस्तानी दूतावास पर हमले की जिम्मेदारी ली

इस्लामिक स्टेट ने काबुल में पाकिस्तानी दूतावास पर हमले की जिम्मेदारी ली

हिमालय की चोटी में भारतीय सेना और अमेरिकी आर्मी के जवानों का धमाल, गिटार से बांधा समां

हिमालय की चोटी में भारतीय सेना और अमेरिकी आर्मी के जवानों का धमाल, गिटार से बांधा समां

पुलिस से लूटी गई विश्व वित्तीय बाजार एके 47 के साथ 2 कुख्यात अपराधी गिरफ्तार, 20 कारतूस व मोबाइल फोन बरामद

पुलिस से लूटी गई एके 47 के साथ 2 कुख्यात अपराधी गिरफ्तार, 20 कारतूस व मोबाइल फोन बरामद

एक वित्तीय प्रणाली क्या है?

Financial System

उधारकर्ता, निवेशक और ऋणदाता सभी वित्तीय बाजारों में भाग लेते हैं, जिसके लिए ऋण पर बातचीत करते हैंनिवेश उद्देश्य उधारकर्ता और ऋणदाता अक्सर विश्व वित्तीय बाजार भविष्य के बदले में पैसे का आदान-प्रदान करते हैंनिवेश पर प्रतिफल. वित्तीय डेरिवेटिव, जो अनुबंध हैं जो किसी के प्रदर्शन पर निर्भर हैंआधारभूत परिसंपत्ति, वित्तीय बाजारों में भी कारोबार किया जाता है।

योजनाकार, जो व्यवसाय प्रबंधन हो सकता है, वित्त पोषित होने वाली परियोजना पर निर्णय लेता है और वित्तीय प्रणाली के भीतर पूंजी प्राप्त करने के लिए मानकों को परिभाषित करते समय इसका समर्थन कौन करेगा। नतीजतन, वित्तीय प्रणाली को आमतौर पर केंद्रीय योजना का उपयोग करके व्यवस्थित किया जाता है, aमंडी अर्थव्यवस्था, या दोनों का संयोजन।

भारत में वित्तीय प्रणाली

वित्तीय प्रणाली बैंकों, बीमा फर्मों, पेंशन फंड, और जैसे कई वित्तीय संस्थानों द्वारा किसी व्यक्ति को प्रदान की जाने वाली सेवाओं से बनी है।म्यूचुअल फंड्स. भारतीय वित्तीय प्रणाली की निम्नलिखित विशेषताएं हैं:

  • यह देश की आर्थिक सफलता के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह निवेश और बचत दोनों को प्रोत्साहित करता है।
  • यह किसी की बचत को जुटाने और आवंटन में सहायता करता है।
  • यह वित्तीय संस्थानों और बाजारों के विकास को आसान बनाता है।
  • इसका पूंजी निर्माण पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।
  • यह a . के गठन में सहायता करता हैगहरा संबंध के बीचइन्वेस्टर और बचाने वाला।
  • इसका संबंध धन के वितरण से भी है।

वित्तीय प्रणाली के घटक

स्तर के आधार पर, वित्तीय प्रणाली विभिन्न घटकों से बनी होती है। एक कंपनी की वित्तीय प्रणाली में ऐसी प्रक्रियाएं होती हैं जो कंपनी के दृष्टिकोण से उसकी वित्तीय गतिविधि को ट्रैक करती हैं। वित्त,लेखांकन,आयखर्च, श्रम और अन्य मुद्दों को कवर किया जाएगा।

जैसा कि पहले कहा गया है, वित्तीय प्रणाली क्षेत्रीय स्तर पर उधारदाताओं और उधारकर्ताओं के बीच धन के प्रवाह को बढ़ावा देती है। बैंक और अन्य वित्तीय संस्थान, जैसे क्लियरिंग हाउस, क्षेत्रीय विश्व वित्तीय बाजार खिलाड़ी होंगे। वित्तीय प्रणाली में वित्तीय संस्थानों, केंद्रीय बैंकों, निवेशकों, सरकारी अधिकारियों, विश्व के बीच बातचीत शामिल हैबैंक, और अन्य विश्वव्यापी पैमाने पर।

शेयर बाजार की चाल मानसून और वित्तीय नतीजों से होगी तय

शेयर बाजार की चाल मानसून और वित्तीय नतीजों से होगी तय

नई दिल्ली (जेएनएन)। इस हफ्ते शेयर बाजार की चाल मानसून विश्व वित्तीय बाजार की प्रगति, आर्थिक आंकड़ों के एलान और कंपनियों के तिमाही वित्तीय नतीजों पर निर्भर करेगी। विदेशी निवेशकों की सक्रियता और कंपनियों के बेहतर वित्तीय नतीजों की उम्मीदों में बीते हफ्ते दलाल स्ट्रीट ने ऊंचाई के नए रिकॉर्ड बनाए।

विश्लेषकों का मानना है कि केंद्र सरकार आने वाले दिनों में अर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ाने के लिए कदम उठा सकती है। मानसून के भी समय से पहले आने की उम्मीद बंधी है। इस हफ्ते बड़ी कंपनियों में बीपीसीएल, कोल इंडिया, एनटीपीसी, एलएंडटी, पावर ग्रिड, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज और महिंद्रा एंड महिंद्रा के वित्तीय नतीजे घोषित होंगे। इसके अलावा पीएमआइ आंकड़ों से भी कारोबारी धारणा प्रभावित होगी। मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर के पीएमआइ डाटा का गुरुवार को एलान किया जाएगा।

विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली के बीच शेयर बाजार को घरेलू निवेशकों ने दी राहत

Updated: June 20, 2022 9:09 AM IST

This multibagger stock gives 101 per cent return in five months.

Share Market News: गत आठ माह से विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) लगातार बिकवाल बने हुए हैं, ऐसे में गत 15 माह से लगातार लिवाली करने वाले घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) से शेयर बाजार राहत की सांस ले पा रहा है. मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के मुताबिक एफआईआई ने मई में बाजार से 4.9 अरब डॉलर की पूंजी निकाली जबकि डीआईआई ने 6.1 अरब डॉलर का निवेश किया.

Also Read:

एफआईआई ने गत एक साल में कुल 25 अरब डॉलर की पूंजी निकासी की है. एफआईआई की बिकवाली का विश्व वित्तीय बाजार यह दौर वैश्विक वित्तीय संकट के बाद का सबसे बड़ा दौर रहा है.

निफ्टी मई में माह दर माह आधार पर तीन विश्व वित्तीय बाजार प्रतिशत लुढ़ककर 16,585 अंक पर आ गया. यह गिरावट का लगातार दूसरा माह और मार्च 2020 के बाद तीसरा बड़ी विश्व वित्तीय बाजार मासिक गिरावट थी.

मई में भारतीय बाजार गिरावट झेलने वाले बाजारों में शामिल रहा. भारतीय बाजार तीन फीसदी, रूस सात फीसदी और इंडोनेशिया एक फीसदी लुढ़का. दूसरी तरफ चीन में पांच प्रतिशत, ब्राजील तीन प्रतिशत, जापान दो प्रतिशत और ताइवान तथा ब्रिटेन एक-एक प्रतिशत उछला. गत 12 माह के दौरान एमएससीआई इंडिया सात प्रतिशत की तेजी में रहा जबकि एमएससीआई ईएम 22 प्रतिशत की गिरावट में रहा.

क्षेत्रवार वाहन पांच प्रतिशत और कंज्यूमर एक प्रतिशत की तेजी में रहा. दूसरी तरफ धातु 16 प्रतिशत, यूटिलिटीज 11 प्रतिशत, तेल एवं गैस 10 प्रतिशत और रियल एस्टेट सात प्रतिशत की गिरावट में रहा.

दीपावली से पहले शेयर बाजार में चमक, लगातार तीसरे दिन 549 अंक उछला, निफ्टी भी मजबूत

share bazar Diwali stock market shines third consecutive day 549 points jumped 58960-60 Nifty 17486-95 | दीपावली से पहले शेयर बाजार में चमक, लगातार तीसरे दिन 549 अंक उछला, निफ्टी भी मजबूत

Highlights निफ्टी 175.15 अंक यानी 1.01 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,486.95 अंक पर बंद हुआ। एनटीपीसी, एचडीएफसी बैंक, टेक महिंद्रा और सन फार्मा शामिल हैं। चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक नुकसान विश्व वित्तीय बाजार में रहा।

मुंबईः घरेलू शेयर बाजारों में लगातार तीसरे दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स में 549 अंक से अधिक का उछाल आया। विश्व वित्तीय बाजार वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख और सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में लिवाली से बाजार लाभ में रहा।

रेटिंग: 4.81
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 815
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *