शीर्ष विदेशी मुद्रा दलाल रैंकिंग

मॉर्निंग स्टार

मॉर्निंग स्टार
भारत के साथ इन देशों में भी बढ़ाया निवेश

विदेशी निवेशकों का भारतीय बाजार पर विश्वास बढ़ा, इस महीने अब तक इतने हजार करोड़ डाले

Alok Kumar

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: November 27, 2022 14:41 मॉर्निंग स्टार IST

एफपीआई - India TV Hindi

Photo:FILE एफपीआई

विदेशी निवेशकों का भारतीय बाजार पर विश्वास बढ़ा है। शेयर बाजार से मिले डेटा के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) ने नवंबर मॉर्निंग स्टार में अबतक उन्होंने शेयर बाजारों में शुद्ध रूप से 31,630 करोड़ रुपये डाले हैं। विश्लेषकों का कहना है कि अगस्त और सितंबर में शुद्ध बिकवाल रहने के बाद अब आगे चलकर एफपीआई द्वारा बड़ी मॉर्निंग स्टार बिकवाली की संभावना नहीं है। ब्याज दरों में आक्रामक वृद्धि का चक्र समाप्त होने की संभावना, मुद्रास्फीति में नरमी, अमेरिका के उम्मीद से बेहतर वृहद आर्थिक आंकड़ों तथा भारतीय अर्थव्यवस्था की जुझारू क्षमता की वजह से एफपीआई भारतीय शेयरों में पैसा लगा रहे हैं। डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, एक से 25 नवंबर के दौरान एफपीआई ने शेयरों में शुद्ध रूप से 31,मॉर्निंग स्टार 630 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

FPI: एक बार फिर भारतीय शेयर बाजार में लौटे विदेशी निवेशक, नवंबर में लगाए ₹31630 करोड़

FPI Investment: एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगस्त और सितंबर में नेट बिकवाल रहने के बाद अब आगे चलकर एफपीआई द्वारा बड़ी बिकवाली की संभावना नहीं है.

FPI ने डेट या बॉन्ड मार्केट से 2,300 करोड़ रुपये की निकासी की. (File Photo)

FPI Investment: फॉरेन पोर्टफोलियो मॉर्निंग स्टार इन्वेस्टर्स (FPI) एक बार फिर भारतीय शेयर बाजारों में लौटने लगे हैं. नवंबर में अबतक उन्होंने शेयर बाजारों में मॉर्निंग स्टार 31,630 करोड़ रुपये डाले हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगस्त और सितंबर में नेट बिकवाल रहने के बाद अब आगे चलकर एफपीआई द्वारा बड़ी बिकवाली की संभावना नहीं है. ब्याज दरों में आक्रामक बढ़ोतरी का चक्र समाप्त होने की संभावना, महंगाई में मॉर्निंग स्टार नरमी, अमेरिका के उम्मीद से बेहतर मैक्रोइकोनॉमिक आंकड़ों और भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian मॉर्निंग स्टार Economy) की जुझारू क्षमता की वजह से FPI भारतीय शेयरों में पैसा लगा रहे हैं.मॉर्निंग स्टार

अभी FPI का रुख रहेगा उतार-चढ़ाव

कोटक सिक्योरिटीज के इक्विटी रिसर्च (रिटेल) प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा कि जियो-पॉलिटिकल चिंताओं की वजह से निकट भविष्य में एफपीआई का रुख उतार-चढ़ाव वाला रहेगा. इस साल अभी तक एफपीआई ने शेयरों से 1.37 लाख करोड़ रुपये निकाले हैं.

मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक-मैनेजर रिसर्च मॉर्निंग स्टार हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि नवंबर में FPI मॉर्निंग स्टार का प्रवाह बढ़ने की वजह शेयर बाजारों में तेजी, भारतीय अर्थव्यवस्था और रुपये की स्थिरता है.

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 590
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *