शीर्ष युक्तियाँ

न्यूनतम लॉट

न्यूनतम लॉट

10 phrases you must know before investing in IPO | आईपीओ में निवेश करने से पहले आपको 10 वाक्यांशों को जानना चाहिए

10 phrases before investing in IPO- किसी भी आईपीओ में निवेश करने से पहले हमें उस आईपीओ से जुड़े वित्तीय पहलुओं के बारे में पता होना चाहिए। इस ब्लॉग में हम उन महत्त्वपूर्ण 10 चरणों के बारे में चर्चा करेंगे जिन्हें आईपीओ में निवेश करने से पहले हम सभी को पता होना चाहिए। किसी भी निवेशक के लिए किसी भी आईपीओ में तीन भाग महत्त्वपूर्ण होते हैं, पहला महत्त्वपूर्ण तिथियाँ, दूसरा कंपनी की वित्तीय स्थिति और तीसरा है आईपीओ विवरण, आइए इन बिंदुओं को समझते हैं।

1-सौदा (Sauda)-मैंने सबसे सरल से शुरुआत की है, हम आशा करते हैं कि हम सभी इस शब्द को समझते हैं यह मतलब व्यापार है जो स्टॉक एक्सचेंज में होता है जो न्यूनतम लॉट एक सौदा है।

2-बुक बिल्डिंग इश्यू( Book Building Issue) -बुक बिल्डिंग एक तकनीक है जहाँ शेयर जारीकर्ता शेयरों की क़ीमत की खोज के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। यह एक तकनीक है, जिस अवधि के लिए आईपीओ खुला है, निवेशकों से विभिन्न कीमतों पर बोलियाँ एकत्र की जाती हैं, जो हैं फ्लोर प्राइस से ऊपर या उसके बराबर। प्रस्ताव मूल्य बोली समापन तिथि के बाद निर्धारित किया जाता है।

3-आईपीओ इश्यू साइज(IPO Issue Size) -आईपीओ इश्यू साइज पूरे आईपीओ का आकार है जिसे कंपनी बाज़ार में पेश करने जा रही है इसमें ताज़ा इश्यू और ऑफर फॉर सेल अब ऑफर फॉर सेल का मतलब है कि कंपनी प्रमोटर अपने शेयरों को पतला कर रहा है और यह सीधे उनकी जेब में जाएगा और यह उस कंपनी में निवेश करने के लिए नहीं है जहाँ नए इश्यू का मतलब है कि यह निवेश कंपनी के विकास के उद्देश्य से है, इसलिए नए इश्यू की संख्या जितनी अधिक होगी, निवेश करने के लिए आईपीओ उतना ही बेहतर होगा।

4-आईपीओ में लॉट साइज (IPO LOT SIZE) -दो पैरामेंटर हैं एक न्यूनतम लॉट साइज है और दूसरा अधिकतम लॉट साइज है, इसलिए नाम की पुष्टि न्यूनतम लॉट साइज का मतलब है कि एक निवेशक द्वारा खरीदे जाने वाले शेयर की न्यूनतम संख्या और अधिकतम लॉट साइज का मतलब एक निवेशक के शेयरों की अधिकतम संख्या है। खरीद सकते हैं।

5-प्रमोटर होल्डिंग (Promoter Holding) -जब कोई व्यक्ति एक कंपनी शुरू करता है तो वह उस समय कंपनी का मालिक होता है, उसके पास 100% शेयर होल्डिंग होती है, लेकिन जब कंपनी अपना आईपीओ लॉन्च करती है तो उस कंपनी के प्रमोटर को अपना हिस्सा कम करना पड़ता है। अब पकड़ यह है कि अगर प्रमोटर अधिक शेयर को न्यूनतम लॉट कम कर रहा है तो ऐसा लगता है कि वह व्यवसाय चलाने के लिए ज़्यादा इच्छुक नहीं है। इसलिए हमेशा जांचें कि पोस्ट इश्यू से पहले प्रमोटर होल्डिंग क्या है और इश्यू के बाद क्या होगा।

10 phrases before investing in IPO in Hindi

6-QIB-क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल क्रेता-आपने हमेशा सुना है कि QIB ने इस IPO पर अधिक सब्सक्राइब किया है। तो आइए जानें कौन हैं ये QIB. सामान्य शब्दों में निवेशक जो $ 100 मिलियन के न्यूनतम निवेश का प्रबंधन करता है या कोई भी पंजीकृत ब्रोकर जो $ 10 मिलियन का प्रबंधन करता है, वे भारत के वित्तीय संस्थान में क्यूआईबी के रूप में श्रेणियाँ हैं, केवल इतना पैसा है कि वे क्यूआईबी हैं अब वित्तीय संस्थान एक व्यापक शब्द है जिसमें बैंक शामिल हैं, म्यूचुअल फंड हाउस, किसी भी आईपीओ में कोई अन्य वित्तीय निगम क्यूआईबी कोटा सामान्य रूप से 50% है

7-NII-कोई भी निवासी भारतीय व्यक्ति, योग्य NRI, HUF, कंपनियाँ, कॉर्पोरेट निकाय, वैज्ञानिक संस्थान, सोसाइटी और ट्रस्ट जो 2 लाख रुपये से अधिक के IPO शेयरों के लिए आवेदन करते हैं, NII श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। NII को SEBI के साथ पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं है। प्रस्ताव का 15% एनआईआई श्रेणी के लिए आरक्षित है। उच्च निवल मूल्य वाले व्यक्ति (एचएनआई) जो आईपीओ में 2 लाख रुपये से अधिक के लिए आवेदन करते हैं, इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं।

8-RHP-एक रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस, या प्रस्ताव दस्तावेज, एक कंपनी द्वारा सेबी (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) को दायर किया जाता है, जब वह निवेशकों को कंपनी के शेयर बेचकर जनता से धन जुटाने की योजना बनाता है। दस्तावेज़ निवेशकों के लिए बहुत उपयोगी है क्योंकि यह कंपनी के व्यवसाय संचालन, वित्तीय, प्रमोटरों और कंपनी के आईपीओ दाखिल करके धन जुटाने के उद्देश्य के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करता है। यह-यह भी बताता है कि कंपनी का लक्ष्य कैसे जुटाया जाएगा, निवेशकों के लिए संभावित जोखिम आदि का उपयोग करना है।

9-जीएमपी (GMP)-यह आजकल सबसे लोकप्रिय शब्द है जब हमारे पास बहुत सारे आईपीओ होते हैं। आइए समझते हैं कि इस जीएमपी का क्या मतलब है-“ग्रे मार्केट प्रीमियम” उर्फ ​​​​”आईपीओ जीएमपी” एक ऐसा शब्द है जिसका न्यूनतम लॉट न्यूनतम लॉट उपयोग लोग आईपीओ बाज़ार में यह जांचने के लिए करते हैं कि आईपीओ की अनुमानित क़ीमत क्या हो सकती है। ग्रे मार्केट अनौपचारिक है लेकिन निवेशक स्टॉक का निश्चित लाभ पाने के लिए आईपीओ के ग्रे मार्केट मूल्य को देख रहे हैं। ग्रे मार्केट आईपीओ लिस्टिंग से पहले और आईपीओ शुरू होने की तारीख से लेकर आवंटन की तारीख तक के दिनों में काम करता है।

LIVE IPO GMP DASHBOARD on IPO INVESTCLICK HERE

ग्रे मार्केट प्रीमियम इंगित करता है कि अनुमानित मूल्य के साथ लिस्टिंग के दिन आईपीओ कैसे प्रतिक्रिया दे सकता है। आइए देखें कि गणना कैसे चलती है। अगर कंपनी ₹100 के आईपीओ के साथ आती है और ग्रे मार्केट प्रीमियम लगभग ₹20 है तो हम मान सकते हैं कि आईपीओ अपनी लिस्टिंग के दिन लगभग ₹120 की सूची बना सकता है। लेकिन सच्चाई यह है कि इसकी कोई विश्वसनीयता नहीं है। ज्यादातर मामलों में आईपीओ जीएमपी काम करता है लेकिन कुछ मामलों में नहीं। हमने देखा है कि यदि आईपीओ मांग में है और अनुमानित एचएनआई और क्यूआईबी सदस्यता उच्च स्तर पर है, तो आईपीओ अनुमानित आईपीओ जीएमपी के साथ दी गई क़ीमत के आसपास सूचीबद्ध है।

10-एएसबीए (ASBA) -अवरुद्ध राशि द्वारा समर्थित आवेदन यह सेबी द्वारा विकसित किया गया है जहाँ आपकी राशि आपके बैंक खाते में अवरुद्ध हो गई है जैसे कि यदि आपने 14, 000 रुपये के लिए 1 लॉट के लिए आवेदन किया है तो यह 14000 आपके खाते में तब तक अवरुद्ध रहेगा जब तक आपको शेयर आवंटित नहीं किए जाते हैं। इसलिए वास्तव में राशि डेबिट नहीं हुई है, यह आवंटन तक केवल एक अवधि के लिए होल्ड पर है यदि शेयर आवंटित किए गए हैं तो राशि काट ली जाएगी यदि नहीं तो राशि अनब्लॉक हो जाएगी।

Paytm IPO Details: कम से कम 6 शेयर के लिए करना होगा अप्लाई, लगेंगे इतने रुपये

देश में बड़े पैमाने पर लोग Paytm के IPO में पैसे लगाएंगे. कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो पहली बार किसी IPO में निवेश करेंगे और वो Paytm के IPO से शुरुआत करेंगे. अगर आप भी इस आईपीओ में निवेश के बारे में सोच रहे हैं तो न्यूनतम लॉट आपको निवेश से जुड़ी सारी जानकारी यहां मिल जाएंगी.

8 नवंबर को खुलेगा Paytm IPO

अमित कुमार दुबे

  • 28 अक्टूबर 2021,
  • (अपडेटेड 08 नवंबर 2021, 10:09 AM IST)
  • 10 नवंबर तक पेटीएम IPO में लगा सकते हैं पैसे
  • रिटेल निवेशक को कम से कम एक लॉट करना होगा अप्लाई

देश में बड़े पैमाने पर लोग Paytm के IPO में पैसे लगाएंगे. कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो पहली बार किसी IPO में निवेश करेंगे और वो Paytm के IPO से शुरुआत करेंगे. अगर आप भी इस आईपीओ में निवेश के बारे में सोच रहे हैं तो आपको निवेश से जुड़ी सारी जानकारी यहां मिल जाएंगी. आपको कम से कम कितने पैसे लगाने होंगे?

Paytm का आईपीओ 8 नवंबर को खुलेगा और 10 नवंबर को बंद होगा. यानी इस दौरान आपको में IPO के लिए अप्लाई करना होगा. जानकारी के मुताबिक 18 नवंबर को इस कंपनी की शेयर बाजार में लिस्टिंग हो सकती है. कंपनी ने इस IPO के लिए प्राइस बैंड 2,080 से 2,150 रुपये प्रति शेयर रखा है, और 6 शेयरों का एक लॉट साइज (Paytm IPO Lot Size) है.

Paytm IPO Price Band

प्राइस बैंक (Paytm IPO Price Band) और लॉट साइज के मुताबिक रिटेल निवेशक को कम से कम 6 शेयरों के लिए आवेदन करने होंगे. अपर प्राइस बैंड के हिसाब से निवेशकों न्यूनतम 12,900 रुपये लगाने होंगे. रिटेल निवेशक इस आईपीओ में अधिकतम 15 लॉट के लिए अप्लाई कर सकते हैं, इसके लिए उन्हें 193,500 रुपये का भुगतान करना न्यूनतम लॉट होगा.

नियम के मुताबिक एक से कम एक लॉट के लिए रिटेल निवेश को अप्लाई करना होता है. अगर आप Paytm IPO में एक लॉट अप्लाई करते हैं तो इसके लिए 12,900 रुपये लगाने होंगे. पेटीएम ने अपने आईपीओ के आकार को बढ़ाकर 18,300 करोड़ रुपये करने का फैसला किया है. पहले यह 16,600 करोड़ रुपये था.

अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ

बता दें, Paytm IPO देश में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा. इससे पहले Coal India ने 15,000 करोड़ रुपये आईपीओ लॉन्च किया था. Paytm IPO के OFS में कंपनी के फाउंडर विजय शेखर शर्मा अपनी 402.65 करोड़ रुपये तक की हिस्सेदारी बेचेंगे.

paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा का कहना है कि आईपीओ का कम वैल्यूएशन पर रखा गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसमें हिस्सा ले सकें. पेटीएम को FY19 में 4,212 करोड़ रुपये, FY20 में 2,468 करोड़ रुपये, FY21 में 1655 करोड़ रुपये और चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही में कंपनी को 381 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

IPO News Alert: आज 700 करोड़ रुपये के इस आईपीओ में पैसा लगाने का मौका, जानें कितने फायदे का होगा सौदा

Supriya Lifescience IPO: निवेश करने की सोच रहे है तो आज आपके पास बढ़िया मौका है। दरअसल, एक्टिव फार्मास्युटिकल्स इंग्रीडिएंट्स मैन्युफैक्चरर सुप्रिया लाइफसाइंस का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) गुरुवार से निवेश के लिए खुल गया है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।

आईपीओ

निवेश करने की सोच रहे है तो आज आपके पास बढ़िया मौका है। दरअसल, एक्टिव फार्मास्युटिकल्स इंग्रीडिएंट्स मैन्युफैक्चरर सुप्रिया लाइफसाइंस का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) गुरुवार से निवेश के लिए खुल गया है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इसके तहत 200 करोड़ रुपये के शेयर जारी किए जाएंगे। निवेशक इसमें 20 दिसंबर तक पैसा लगा सकते हैं।

इतना रखा गया है प्राइस बैंड
सुप्रिया लाइफसाइंस आईपीओ के लिए कंपनी ने प्राइस बैंड 265 से 274 रुपये प्रति शेयर निर्धारित किया है। ग्रे मार्केट में यह अपर प्राइस बैंड 91 फीसदी प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा है। 200 करोड़ के शेयर जारी करने के साथ ही इसमें प्रमोटर सतीश वामन वाघ द्वारा 500 करोड़ रुपये की बिक्री की पेशकश शामिल है। प्रमोटर के पास सुप्रिया लाइफसाइंस में 99.98 फीसदी इक्विटी शेयरहोल्डिंग है। सुप्रिया लाइफसाइंज की ग्रे मार्केट में तेज मांग दिख रही है। इश्यू प्राइस 274 रुपये के मुकाबले ग्रे मार्केट में इसका भाव 250 रुपये या 91.2 फीसदी प्रीमियम के साथ 524 रुपये है।

ये है शेयरों का लॉट साइज
आपको बता दें कि इस आईपीओ में निवेशक न्यूनतम 54 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 54 शेयरों के गुणकों में बोली लगा सकते हैं। रिटेल निवेशक एक लॉट के लिए न्यूनतम 14,796 रुपये के शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं और उनका अधिकतम निवेश 13 लॉट के लिए 1,92,348 रुपये होगा, क्योंकि उन्हें आईपीओ में 2 लाख रुपये तक निवेश करने की अनुमति दी गई है। इसमें 75 फीसदी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए, 10 फीसदी रिटेल निवेशकों के लिए और बाकी 15 फीसदी नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के लिए रिजर्व है।

यहां खर्च की जाएगी जुटाई हुई रकम
कंपनी की ओर से बताया गया है कि इस आईपीओ की जरिए जुटाई गई रकम का उपयोग कंपनी सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के अलावा, पूंजीगत व्यय आवश्यकताओं और लोन की अदायगी के लिए करेगा। गौरतलब है कि कंपनी फार्मा उत्पाद बनाती है। इसके पास 38 एक्टिव फार्मास्यूटिकल्स इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) का उत्पाद है, जो एंटीहिस्टामाइन, एनाल्जेसिक, एनेस्थेटिक, विटामिन, एंटी-अस्थमा और एंटीएलर्जिक जैसे थिरापुटिक पर केंद्रित हैं।

विस्तार

निवेश करने की सोच रहे है तो आज आपके पास बढ़िया मौका है। दरअसल, एक्टिव फार्मास्युटिकल्स इंग्रीडिएंट्स मैन्युफैक्चरर सुप्रिया लाइफसाइंस का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) गुरुवार से निवेश के लिए खुल गया है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इसके तहत 200 करोड़ रुपये के शेयर जारी किए जाएंगे। निवेशक इसमें 20 दिसंबर तक पैसा लगा सकते हैं।

इतना रखा गया है प्राइस बैंड
सुप्रिया लाइफसाइंस आईपीओ के लिए कंपनी ने प्राइस बैंड 265 से 274 रुपये प्रति शेयर निर्धारित किया है। ग्रे मार्केट में यह अपर प्राइस बैंड 91 फीसदी प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा है। 200 करोड़ के शेयर जारी करने के साथ ही इसमें प्रमोटर सतीश वामन वाघ द्वारा 500 करोड़ रुपये की बिक्री की पेशकश शामिल है। प्रमोटर के पास सुप्रिया लाइफसाइंस में 99.98 फीसदी इक्विटी शेयरहोल्डिंग है। सुप्रिया लाइफसाइंज की ग्रे मार्केट में तेज मांग दिख रही है। इश्यू प्राइस 274 रुपये के मुकाबले ग्रे मार्केट में इसका भाव 250 रुपये या 91.2 फीसदी प्रीमियम के साथ 524 रुपये है।

ये है शेयरों का लॉट साइज
आपको बता दें कि इस आईपीओ में निवेशक न्यूनतम 54 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 54 शेयरों के गुणकों में बोली लगा सकते हैं। रिटेल निवेशक एक लॉट के लिए न्यूनतम 14,796 रुपये के शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं और उनका अधिकतम निवेश 13 लॉट के लिए 1,92,348 रुपये होगा, क्योंकि उन्हें आईपीओ में 2 लाख रुपये तक निवेश करने की अनुमति दी गई है। इसमें 75 फीसदी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए, 10 फीसदी रिटेल निवेशकों के लिए और बाकी 15 फीसदी नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के लिए रिजर्व है।

यहां खर्च की जाएगी जुटाई हुई रकम
कंपनी की ओर से बताया गया है कि इस आईपीओ की जरिए जुटाई गई रकम का उपयोग कंपनी सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के अलावा, पूंजीगत व्यय आवश्यकताओं और लोन की अदायगी के लिए करेगा। गौरतलब है कि कंपनी फार्मा उत्पाद बनाती है। इसके पास 38 एक्टिव फार्मास्यूटिकल्स इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) का उत्पाद है, जो एंटीहिस्टामाइन, एनाल्जेसिक, एनेस्थेटिक, विटामिन, एंटी-अस्थमा और एंटीएलर्जिक जैसे थिरापुटिक पर केंद्रित हैं।

LIC IPO: आज खुलेगा देश का सबसे बड़ा आईपीओ, ये रही निवेश प्रक्रिया से लेकर इश्यू से जुड़ी पूरी जानकारी

LIC IPO Launch Today Latest Update In Hindi: देश के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ यानी एलआईसी का आईपीओ आज खुल रहा है। इसके जरिए सरकार अपने पूर्ण स्वामित्व वाली देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी एलआईसी में 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है और सरकार की योजना बाजार से 21,000 करोड़ रुपये जुटाने की है।

एलआईसी

आज आईपीओ न्यूनतम लॉट बाजार के साथ ही उन निवेशकों के लिए भी बड़ा दिन है, जो लंबे समय से देश के सबसे बड़े आईपीओ का इंतजार कर रहे थे। जी हां, कुछ ही देर में एलआईसी का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए खुलने वाला है। बता दें कि बीते दिन यानी मंगलवार को कंपनी की ओर से पॉलिसीधारकों को मैसेज भेजकर इस आईपीओ के बारे में जानकारी दी गई है।

21 हजार करोड़ रुपये का आईपीओ
ये एतिहासिक लम्हा इसलिए भी है क्योंकि यह देश के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ है। इस आईपीओ के जरिए सरकार अपने पूर्ण स्वामित्व वाली देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी एलआईसी में 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है और इसके जरिए सरकार की योजना बाजार से 21,000 करोड़ रुपये जुटाने की है। यहां बता दें कि इससे पहले देश के सबसे बड़े आईपीओ का तमगा ऑनलाइन पेमेंट सेवा प्रदान करने वाली पेटीएम के नाम था।

इतनी बोली लगा सकेंगे निवेशक
रिटेल निवेशक एलआईसी के आई के लिए लॉट के हिसाब से बोली लगा सकते हैं। एक लॉट में 15 शेयर होंगे। यानी 949 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से देखें तो एक लॉट के लिए निवेशक को 14,235 रुपये निवेश करने होंगे। यहां बता दें कि निवेशक न्यूनतम एक और अधिकतम 14 लॉट के लिए बोली लगा सकता है। इसका मतलब है कि अधिकतम दो लाख रुपये तक निवेशकर सकता है।

शेयरों का भाव इतना, मिलेगी इतनी छूट
गौरतलब है कि एलआईसी का आईपीओ आज खुलकर 9 मई को शाम 5 बजे बंद हो जाएगा। एलआईसी के शेयर का मूल्य दायरा 902-949 रुपये तय किया गया है। इसमें मौजूदा पॉलिसीधारकों और एलआईसी के कर्मचारियों के लिए कुछ शेयर आरक्षित रखे गए हैं। खुदरा निवेशकों और पात्र कर्मचारियों को 45 रुपये प्रति शेयर और पॉलिसीधारकों को 60 रुपये प्रति शेयर की छूट दी जाएगी। एलआईसी के शेयर 17 मई को बाजार में सूचीबद्ध होंगे, जबकि आईपीओ अलॉटमेंट की जानकारी 12 मई तक मिलेगी।

एसबीआई योनो से ऐसे करें निवेश
भारतीय स्टेट बैंक की ओर से अपने ग्राहकों को जानकारी दी गई है कि बैंक के ग्राहक एलआईसी आईपीओ में एसबीआई योनो एप के जरिए भी निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश करने के लिए सबसे पहले अपने एसबीआई योनो (SBI YONO) एप को ओपन करना होगा और लॉगइन करने के बाद इंवेस्टमेंट विकल्प पर क्लिक करना होगा। ऐसा करने पर आपको डीमैट और ट्रेडिंग खोलना ऑप्शन दिखेगा। इस अकाउंट कोखोलने के बाद आप आसानी से एलआईसी आईपीओ में निवेश कर सकते हैं। गौरतलब है कि ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंक इस अकाउंट को खोलने के लिए कोई शुल्क नहीं ले रहा है।

पेटीएम के माध्यम से खरीदें हिस्सेदारी
एसबीआई की तरह ही पेटीएम मनी के माध्यम से एलआईसी आईपीओ के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले पेटीएम मनी के होम स्क्रीन पर आईपीओ सेक्शन में जाएं। आप अगर पॉलिसीधारक है तो आईपीओ डिटेल्स पेज पर ' इंवेस्टर टाइप' के नीचे पॉलिसीहोल्डर्स सेलेक्ट करें। ध्यान रहे कि पैन एलआइसी पॉलिसी से लिंक्ड हो और पेटीएम मनी के डीमैट अकाउंट से संबद्ध हो। अब एलआईसी आईपीओ विकल्प चुनकर इसमें 'करंट ऐंड अपकमिंग' टैब पर क्लिक करें। इसके बाद 'अप्लाई नाउ' ऑप्शन चुनें। अब बिड पेज खुलने पर नए पेज पर आप आवेदन के लिए प्राइस और क्वांटिटी अपडेट कर सकते हैं। फिर 'एड यूपीआइ डिटेल्स' सेक्शन में अपना यूपीआई आईडी अपडेट करें और अप्लाई पर क्लिक करें। आवंटन होने पर सूचना मिल जाएगी।

विस्तार

आज आईपीओ बाजार के साथ ही उन निवेशकों के लिए भी बड़ा दिन है, जो लंबे समय से देश के सबसे बड़े आईपीओ का इंतजार कर रहे थे। जी हां, कुछ ही देर में एलआईसी का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए खुलने वाला है। बता दें कि बीते दिन यानी मंगलवार को कंपनी की ओर से पॉलिसीधारकों को मैसेज भेजकर इस आईपीओ के बारे में जानकारी दी गई है।

21 हजार करोड़ रुपये का आईपीओ
ये एतिहासिक लम्हा इसलिए भी है क्योंकि यह देश के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ है। इस आईपीओ के जरिए सरकार अपने पूर्ण स्वामित्व वाली देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी एलआईसी में 3.5 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है और इसके जरिए सरकार की योजना बाजार से 21,000 करोड़ रुपये जुटाने की है। यहां बता दें कि इससे पहले देश के सबसे बड़े आईपीओ का तमगा ऑनलाइन पेमेंट सेवा प्रदान करने वाली पेटीएम के नाम था।

इतनी बोली लगा सकेंगे निवेशक
रिटेल निवेशक एलआईसी के आई के लिए लॉट के हिसाब से बोली लगा सकते हैं। एक लॉट में 15 शेयर होंगे। यानी 949 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से देखें तो एक लॉट के लिए निवेशक को 14,235 रुपये निवेश करने होंगे। यहां बता दें कि निवेशक न्यूनतम एक और अधिकतम 14 लॉट के लिए बोली लगा सकता है। इसका मतलब है कि अधिकतम दो लाख रुपये तक निवेशकर सकता है।

शेयरों का भाव इतना, मिलेगी इतनी छूट
गौरतलब है कि एलआईसी का आईपीओ आज खुलकर 9 मई को शाम 5 बजे बंद हो जाएगा। एलआईसी के शेयर का मूल्य दायरा 902-949 रुपये तय किया गया है। इसमें मौजूदा पॉलिसीधारकों और एलआईसी के कर्मचारियों के लिए कुछ शेयर आरक्षित रखे गए हैं। खुदरा निवेशकों और पात्र कर्मचारियों को 45 रुपये प्रति शेयर और पॉलिसीधारकों को 60 रुपये प्रति शेयर की छूट दी जाएगी। एलआईसी के शेयर 17 मई को बाजार में सूचीबद्ध होंगे, जबकि आईपीओ अलॉटमेंट की जानकारी 12 मई तक मिलेगी।

एसबीआई योनो से ऐसे करें निवेश
भारतीय स्टेट बैंक की ओर से अपने ग्राहकों को जानकारी दी गई है कि बैंक के ग्राहक एलआईसी आईपीओ में एसबीआई योनो एप के जरिए भी निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश करने के लिए सबसे पहले अपने एसबीआई योनो (SBI YONO) एप को ओपन करना होगा और लॉगइन करने के बाद इंवेस्टमेंट विकल्प पर क्लिक करना होगा। ऐसा करने पर आपको डीमैट और ट्रेडिंग खोलना ऑप्शन दिखेगा। इस अकाउंट कोखोलने के बाद आप आसानी से एलआईसी आईपीओ में निवेश कर सकते हैं। गौरतलब है कि ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंक इस अकाउंट को खोलने के लिए कोई शुल्क नहीं ले रहा है।

पेटीएम के माध्यम से खरीदें हिस्सेदारी
एसबीआई की तरह ही पेटीएम मनी के माध्यम से एलआईसी आईपीओ के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसके लिए न्यूनतम लॉट सबसे पहले पेटीएम मनी के होम स्क्रीन पर आईपीओ सेक्शन में जाएं। आप अगर पॉलिसीधारक है तो आईपीओ डिटेल्स पेज पर ' इंवेस्टर टाइप' के नीचे पॉलिसीहोल्डर्स सेलेक्ट करें। ध्यान रहे कि पैन एलआइसी पॉलिसी से लिंक्ड हो और पेटीएम मनी के डीमैट अकाउंट से संबद्ध हो। अब एलआईसी आईपीओ विकल्प चुनकर इसमें 'करंट ऐंड अपकमिंग' टैब पर क्लिक करें। इसके बाद 'अप्लाई नाउ' ऑप्शन चुनें। अब बिड पेज खुलने पर नए पेज पर आप आवेदन के लिए प्राइस और क्वांटिटी अपडेट कर सकते हैं। फिर 'एड यूपीआइ डिटेल्स' सेक्शन में अपना यूपीआई आईडी अपडेट करें और अप्लाई पर क्लिक करें। आवंटन होने पर सूचना मिल जाएगी।

रेटिंग: 4.17
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 328
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *